साउथ सिनेमा के स्टार एक्टर विजय सेतुपति (Vijay Sethupathi) आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। उन्होंने इंडस्ट्री में बतौर विलेन अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उन्होंने ये साबित किया है कि एक अभिनेता बनने के लिए सिक्स पैक एब्स, बॉडी और गुड लुक की जरूरत नहीं बल्कि स्किल की जरूरत है। ‘जवान’ में काली गायकवाड़ के रोल से सभी का दिल जीत चुके विजय की एक्टिंग की जितनी चर्चा होती है, उतनी ही उनके व्यवहार और सॉफ्ट हार्ट की भी होती है। उनसे जुड़ा एक किस्सा है, जब उन्होंने एक एक्ट्रेस के साथ काम करने से इनकार कर दिया था और इसके पीछे की वजह थी बाप-बेटी का कनेक्शन, जो खून से तो नहीं था मगर दिल से रिश्ता बना था। चलिए बताते हैं इसके बारे में…

दरअसल, ‘जवान’ की सफलता के बाद विजय सेतुपति का एक पुराना इंटरव्यू चर्चा में आया था, जिसमें उन्होंने साउथ की ब्यूटीफुल और पॉपुलर एक्ट्रेस कृति शेट्टी के साथ काम करने से मना कर दिया था। ये बात उन दिनों की है जब कृति ने अपने करियर की शुरुआत की थी। उनकी पहली फिल्म ‘उप्पेना’ थी। ये मूवी हिट रही थी। इसमें एक्ट्रेस के साथ विजय सेतुपति थे, जिन्होंने उनके पिता का रोल अदा किया था।

कृति को बेटी के जैसे मानते हैं विजय

विजय सेतुपति ने कृति से जुड़ा किस्सा फिल्म ‘लाभम’ के दौरान याद किया था। उन्होंने बताया था कि एक फिल्म के निर्माता उन्हें और कृति शेट्टी के साथ फिल्म बनाना चाहते थे। लेकिन, विजय सेतुपति अभिनेत्री के साथ जोड़ी बनाने में अहसज थे। क्योंकि, इसके पहले एक्ट्रेस उनकी बेटी का रोल प्ले कर चुकी थीं। उम्र का ज्यादा फासला होने की वजह से विजय सेतुपति ने कृति को रियल लाइफ में भी बेटी की ही तरह माना है। इसलिए उन्होंने उनके साथ ऑनस्क्रीन रोमांस करने से साफ इनकार कर दिया था। इसके बाद फिल्म में श्रुति हासन को कास्ट किया गया था। ये किस्सा ‘लाभम’ की शूटिंग के दौरान का है। इसके मेकर कृति को विजय के अपोजिट लेना चाहते थे।

एक साथ चल रही थी दो फिल्मों की शूटिंग

विजय सेतुपति ने खुद ‘लाभम’ के प्रमोशन के दौरान बताया था कि जब मेकर्स ने उनके अपोजिट कृति को लेने के विचार के बारे में एक्टर को बताया तो उन्होंने साफ इनकार किया और कहा था कि उसी समय ‘उप्पेना’ की भी शूटिंग चल रही थी और इसमें एक्ट्रेस उनकी बेटी के रोल में थीं तो इस पर उन्होंने जवाब दिया था कि एक फिल्म में वो उनकी बेटी हैं और दूसरी में प्रेमिका बनेंगी। इसे एक्टर ने अजीब बताया था और केमिस्ट्री बनाने को असंभव कहा था।

Advertisement